Mere liye tum kaafi ho lyrics in hindi |Ayushman Khurana

2
49

Mere liye tum kaafi ho lyrics: This song is sung by Ayushman Khurana. Lyrics is written by Vayu. And Programmed and Arranged of this song: Tanishk Bagchi. And the lyrics of this beautiful song are given below.

Mere liye tum kaafi ho, Mere liye tum kaafi ho lyrics in English, Mere liye tum kaafi ho lyrics in hindi, Singer : Ayushman Khurana

Mere liye tum kaafi ho lyrics in hindi

SongMere Liye Tum Kaafi Ho
SingerAyushman Khurana
MusicTanishk – Vayu
Programmed and
Arranged
Tanishk Bagchi
LyricsVayu
GuitarShomu Seal
Music LabelT-Series

तेरी मेरी ऐसी जुड़ गई कहानी
के जुड़ जाता जैसे दो नदियों का पानी
मुझे आगे तेरे साथ बहना है

जाना तुम्हें तो है ये बात जानी
के ये ज़िन्दगी कैसे बनती सुहानी
मुझे हर पल तेरे साथ रहना है

तूम कुछ अधूरे से हम भी कुछ आधे
आधा आधा हम जो दोनों मिला दे
तो बन जाएगी अपनी एक जिंदगानी

ये दुनिया मिले ना मिले हमको
खुशियां भगा देंगी हर गम को
तुम साथ हो फिर क्या बाकी हो

मेरे लिए तुम काफी हो
मेरे लिए तुम काफी हो
मेरे लिए तुम काफी हो

एक आसमा के हैं हम दो सितारे के
के टकराते हैं टूट ते हैं बेचारे
मुझे तुमसे पर ये कहना है

चक्के जो दो साथ चलते हैं थोड़े तो
घिसने रगड़ने में छीलते है थोड़े
पर यूँ ही तो कट ते हैं कच्चे किनारे

ये दिल जो ढल तेरी आदत पे
शामिल किया है इबादत में
थोड़ी खुदा से भी माफी हो

हिन्दी ट्रैक्स डॉट इन
मेरे लिए तुम काफी हो
मेरे लिए तुम काफी हो

मेरे लिए तुम काफी हो
मेरे लिए तुम काफी हो

Mere liye tum kaafi ho lyrics in English

Teri meri aisi jud gayi kahaani
Ke jud jaata jaise do nadiyon ka paani
Mujhe aage tere sath behna hai

Jaana tumhein to hai teh bata jaani
Ke aye zindagi kaise banti suhaani
Mujhe har pal tere sath rehna hai

Tu kuchh adhoore se
Hum bhi kuchh aadhe
Aadha aadha hum jo dono mila dein

To ban jaayegi apni ik zindgaani
Yeh duniya mile na mile humko
Khushiyan bhaga dengi har gham ko

Tum sath ho phir kya baaki ho
Mere liye tum kaafi ho
Mere liye tum kaafi ho

Mere liye tum kaafi ho
Ek aasmaan ke hain hum do sitare ke
Ke takraate hain toot’te hain bechare

Mujhe tumse par yeh kehna hai
Chakke jo do sath chlte hain thode to
Ghisne ragadne mein chhilte hain thode

Par yoon hi to kat’te hain kachche kinaare
Yeh dil jo dhala teri aadt mein
Shaamil kiya hai ibaadat mein

Thodi khuda se bhi maafi ho
Mere liye tum kaafi ho
Mere liye tum kaafi ho

Mere liye tum kaafi ho
Mere liye tum kaafi ho

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here